दुनिया की 10 सबसे ठंडी जगहें, जहां का तापमान जानकर सिहर उठेंगे आप,देखे फोटो

0
60

1 देश-दुनिया में इस समय कड़ाके की ठंड है। वर्फबारी, गिरते तापमान और शीत लहर से लोग ठिठुर रहे हैं। इस बीच यहां जानें की दुनिया में सबसे ज्यादा ठंड किन जगहों पर पड़ती है।

2 रोजर पास मोंटाना: अमेरिका के हेलेना राष्ट्रीय उद्यान से गुजरने वाला रोजर पास मोंटाना दुनिया की दसवीं सबसे ठंडी जगह है। साल 1954 में तो यहां का तापमान एक बार -57 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था।

3 स्टेनली, इडाहो: साल 2010 में हुए जनगणना के अनुसार यहां 63 लोग रहते हैं। इडाहो में मौजूद इस जगह का तापमान -17.8 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाता है।माउंट मैकिनले, अलास्का: इस जगह को डेनाली के नाम से भी जाना जाता है जो उत्तरी अमेरिका में मौजूद है। मैकिनले नाम के पहाड़ की ऊंचाई समुद्र 20,310 फीट है। यहां का तापमान -50.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा चुका है।

4 फोर्ट सेल्किर्क, कनाडा: इस जगह का तापमान -59 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जा चुका है।

5 स्नैग, युकोन: यह दुनिया की छठी सबसे ठंडी जगह है। यहां का तापमान -63 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाता है और साल 1947 में तो यह तापमान -65 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया था।

6 ओमय्याकोन, रूस: इस जगह को सबसे दुर्गम और ठंडी जगहों में से एक माना जाता है। इस जगह पर 500 लोग रहते हैं। साल 1924 में यहां का तापमान -71.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। साल 1933 में -67.8 डिग्री दर्ज किया गया था।

7 नॉर्थ आइस, ग्रीनलैंड: नॉर्थ ग्रीनलैंड में मौजूद यह जगह एक रिसर्च स्टेशन है। यहां पर पूरी तरह से वर्फ जमी रहती हैं और धीरे-धीरे पिघलकर पानी का रूप भी लेती है। इस जगह का सबसे कम तापमान -66.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

8 वेरखोयस्क, रूस: यह दुनिया में तीसरी सबसे ठंडी जगह है। यहां का तापमान -69.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जा चुका है।

9 आइज़्मिट, ग्रीनलैंड: यह जगह आर्कटिक का हिस्सा है। यहां का तापमान बहुत कम रहता है और औसत ठंड के लिहाज से यह दुनिया की दूसरी सबसे ठंडी जगह है। यहां का तापमान -47.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

10 वोस्तोक, अंटार्कटिका: यह रूस में स्थित एक रिसर्च स्टेशन है जिसे साल 1957 में स्थापित किया गया था। यहां का सबसे कम प्राकृतिक तापमान -89.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। यहां आइस कोर ड्रिलिंग और मैग्नेटोमेट्री की मदद से रिसर्च की जाती है। स्टेशन का नाम प्रथम रूसी अंटार्कटिक अभियान के प्रमुख जहाज वोस्तोक के नाम पर रखा गया था।

LEAVE A REPLY