दिव्या भारती के मौत से जुडी कुछ अनसुनी कहानिया

0
276

दिव्या भारती के मौत से जुडी कुछ अनसुनी कहानिया दिव्या भारती का जन्म 25 फरवरी 1974 में हुआ था , जो 90 के दशक में टॉप की हिरोइनो की लिस्ट में शामिल हो गया था और बॉलीवुड में शीर्ष नायिकाओं को तबाह कर दिया गया था, दिव्य ने अपने छोटे जीवनकाल में सफलता हासिल की थी और बॉलीवुड में खुद के लिए एक जगह बनाई थी। वह दक्षिण में भी उतना ही लोकप्रिय थीं और उन्होंने सुपरहिट बनने वाली फिल्मों में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया था। दिव्य ने राजीव राय की फिल्म, विश्वमं में अपनी शुरुआत की।





यद्यपि यह फिल्म बड़ी हिट नहीं थी, लेकिन उसका गीत ‘Saat Samundar Paar Mein Tere Piche Piche aa Gayi! ‘ ने उसे सुर्खियों में लाने के लिए अपना ध्यान आकर्षित किया। अपने समय के दौरान, उन्होंने अपने समय के कुछ शीर्ष निर्देशकों और बैनर के साथ काम किया, जो प्रमुख ब्लॉबस्टर्स के बारे में लाए जो लोगों को उसकी प्रतिभा और क्षमताओं और लोगों के लिए सराहना करते थे। दिव्य लाखों लोगों का दिल था अगले वर्ष उसने 1992 के सबसे बकाया लोकप्रिय चेहरा के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड जीता।

उनकी मृत्यु के समय, उनकी लाडला, कन्यादान, रंग, कर्तव्य, शतरंज, विजय पथ, आंदोलन और कुछ अनोखी फिल्मों में शामिल थे। इसके अलावा, वह बातचीत के तहत कई फिल्मों की थी।

दिव्य की असामयिक मृत्यु के परिणामस्वरूप उद्योग को नुकसान लगभग 25 से 30 करोड़ का अनुमान है। कर्तव्य निर्माता को 25 लाख रुपये का नुकसान हुआ। विकी कुमार का अभी तक निष्ठावान उद्यम है, इसे पूरा करने के लिए और 5 से 10 दिन का समय दिया गया था और लगभग 45 लाख का नुकसान हुआ था।

हमने इस Zeephy News में द्विवा भारती के बिखर पलों को इकट्ठा करने और एकत्रित करने की कोशिश की है ताकि वह बॉलीवुड की उन किंवदंतियों में से एक के रूप में जीवित रहें और बॉलीवुड उद्योग में सबसे खूबसूरत और प्रतिभाशाली अभिनेत्री में से एक के रूप में जीती रहें-

DIVYA BHARTI खुद के बारे में कैसे बताती है

Divya Bharti – Biography by zeephy






मुझे नहीं पता कि कहां से शुरू करना है या अपने बारे में क्या लिखना है बहुत कम है और लेकिन अनुभव की मात्रा में, मैंने अपनी उम्र को ठुकरा दिया है। जो मैंने समझा और देखा है, मैं आत्मविश्वास से कह सकती हूं कि दुनिया में कोई भी सही नहीं है। हमारे पास हमारी नकल है जैसे हमारे पास हमारे प्लस पॉइंट हैं और हम सब पूर्णता की हमारी अवधारणा के करीब आने की कोशिश करते हैं। यह मानव स्वभाव है और वह जीवन है कुछ लोग खुद को एक अच्छा पक्ष पेश करते हैं, जो जरूरी नहीं कि वह सच हो सकते हैं। लेकिन मेरे मामले में मेरे विपरीत हिस्से के विपरीत कुछ भी नहीं हुआ है। अब मुझे पता है कि ऐसे लोग हैं जो मुझ पर सबसे बुरा मानते हैं। हालांकि, जो लोग मुझे जानते हैं वे असली मुझे जानते हैं और यह कुख्यात छवि से पूरी तरह से अलग है, मैं सभी की तरह एक इंसान हूं और मेरे पास भावनाएं हैं जो मुझे कमजोर बनाती हैं।

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई? How did divya bharti die

मुंबई पुलिस के मुताबिक दिव्या भारती की मौत एक एक्सिडेंट है. ये हादसा हुआ 5 अप्रैल 1993 को. जगह थी वर्सोवा, अंधेरी वेस्ट मुंबई के तुलसी अपार्टमेंट की पांचवी मंजिल का एक अपार्टमेंट. इस अपार्टमेंट के लिविंग रूम की खिड़की से दिव्या रात 11.30 बजे ग्राउंड फ्लोर पर गिरीं. उन्हें नजदीकी कूपर अस्पताल ले जाया गया. वहां उन्होंने दम तोड़ दिया. 7 अप्रैल को हिंदू रीति रिवाज से उनका अंतिम संस्कार पति साजिद नाडियावाला ने किया.

रात के लगभग 10 बजे नीता अपने पति साइकैट्रिस्ट डॉ. श्याम के साथ पहुंची. घर पर दिव्या के साथ उनकी मेड अमृता थी. अमृता छुटपन से दिव्या की देखभाल कर रही थीं. दिव्या, श्याम और नीता लिविंग रूम में बैठ टीवी देखने लगे. तीनों ने कुछ ड्रिंक्स भी लिए. फिर दिव्या लिविंग रूम की खिड़की की तरफ बढ़ीं.

यह खिड़की पार्किंग की तरफ खुलती थी. इसमें ग्रिल नहीं लगी थी. दिव्या खिड़की पर चढ़ गईं. और बाहर की तरफ पैर कर बैठ गईं. खिड़की के बाहर लगभग एक फुट की पट्टी थी. दोस्तों की मानें तो दिव्या अकसर ऐसा करती थीं. खुली हवा में सांस लेने जैसा कुछ थी यह स्टंटनुमा हरकत. इस दौरान वह लगातार अमृता से बात कर रही थीं. अमृता उस वक्त किचेन में इन तीनों के लिए चखना तैयार कर रही थी. पुलिस को दिए बयान की मानें तो नीता और श्याम उस वक्त वीसी प्लेयर पर कुछ देखने में मशगूल थे.

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया. उनका हाथ स्लिप हो गया. वह नीचे गिरीं. ये सब कुछ ही सेकंड्स में हुआ. जब नीता, श्याम और अमृता भागकर नीचे पहुंचे, तो देखा कि पार्किंग में दिव्या तड़प रही है. चारों तरफ खून का गोला बढ़ता जा रहा था. दिव्या जिंदा थी, मगर उसकी नब्ज तेजी से डूब रही थी. वे उसे अस्पताल ले गए. कूपर हॉस्पिटल. वहां इमरजेंसी के आईसीयू वॉर्ड में दिव्या ने आखिरी सांस ली. दिव्या की आखिरी मेडिकल रिपोर्ट तैयार की डॉ. त्रिपाठी ने. उनके मुताबिक दिव्या के पेट में कुछ मात्रा में एल्कोहल था.

DIVYA BHARTI DEATH Video






Source: www.thelallantop.com

यह भी पढ़ें:

हनी सिंह क्यों नहीं गाते है अब गाने, वजह कर देगी आपको हैरान

रावण के दस सिर क्यों थे? जानिये रावण से जुड़े कुछ रोचक बाते

100 साल की उम्र में PHD करने जा रहे है ये व्यक्ति

Happy Diwali Status in Hindi & English | Diwali Quotes

——————————————————————————————————————————————————
हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Zeephy News के Facebook पेज को लाइक करें


————————————————————————————————————————————————–